मोदी ने इस क्षेत्र में भारत को बना दिया नम्बर वन, अमेरिका हुआ पीछे चीन को भी हो रही जलन

0
1370

 भारत को लेकर के विश्व भर में काफी बुरी धारणाएं बनी हुई है कि भारत में विकास नही है, भारत में पहले जैसे ही हालात है. मगर सच तो यही है कि चीजे पूरी तरह से बदल चुकी है और आज के समय में काफी कुछ है जिसमे भारत विश्व में टॉप देशो में शुमार होते चला जा रहा है. आज की बात करे तो आज भारत ने डिजिटल वर्ल्ड में तो एक तरह से मानो बादशाहत सी ही हासिल कर ली है और ये हम लोग एक बार फिर से देखते चले जा रहे है.

ई पेमेंट के मामले में भारत नम्बर वन, दुनिया के बड़े बड़े पैसे वाले विकसित देश भी कोसो दूर
भारत का 2020 वर्ष का रियल टाइम डिजिटल पेमेंट का आंकड़ा अभी हाल ही में जारी हुआ है जिसके तहत एक वर्ष के भीतर में भारत में कुल 25.5 बिलियन डिजिटल ई पेमेंट्स की गयी है और ये अपने आप में बहुत ही बड़ा आंकड़ा है जिसे आज तक कोई देश छू नही पाया. चीन दुसरे नम्बर पर है और उसका आंकड़ा 15 बिलियन का है और तीसरे पर दक्षिण कोरिया है.

यूपीआई ने किया है कमाल, बाकी किसी देश के पास इतना सक्षम सिस्टम नही
भारत सरकार की कम्पनी एनपीसीआई के द्वारा बनाये गये पेमेंट सिस्टम यूपीआई के कारण से ही ये सब कुछ हो पाया है. जहाँ आज विश्व के बड़े बड़े अमेरिकी और यूरोपियन देश चेक पेमेंट और नेट बैंकिंग जैसे कठिन ओपशंस पर चल रहे है वही भारत यूपीआई की मदद से इसमें काफी अधिक त्वरित हो चला है.

हाल ही में गूगल ने भी अमेरिका के केन्द्रीय बैंक को एक लैटर लिखते हुए उनके देश में भी भारत की ही तरह यूपीआई जैसा सिस्टम बनाने की बात कही है क्योंकि यही भविष्य है और ये चाहे तो काफ़ी कुछ बदलाव के रूप में देशो को तेज कर सकता है. अभी यूपीआई प्लेटफॉर्म पर ही फोनपे, गूगलपे और अमेजनपे जैसे एप्प आये है और अभी  और भी आने की उम्मीद है.

ये तो भारत की शुरूआती उड़ान है लेकिन आगे चलकर के भारत और भी काफी बड़े मुकाम हासिल करें की उम्मीद कर रहा है है और हो सकता है कई बड़े देशो को यूपीआई टेक्नोलॉजी एक्सपोर्ट करके भारत इसमें ग्लोबल लीडर के रूप में भी उभर सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here