कांग्रेस छोड़ दी, अब अमरिंदर सिंह के पास बचा है सिर्फ एक रास्ता

0
3035

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का नाम इन दिनों काफी अधिक सुर्खियों में बना हुआ है और इसके पीछे एक विशेष कारण भी है. जिस तरह से उन्होंने अचानक से न सिर्फ मुख्यमंत्री पद बल्कि साथ ही साथ में कांग्रेस पार्टी को भी छोड़ दिया जिसकी कई लोग तो उम्मीद ही नही कर रहे थे. कही न कही ये अपने आप में बहुत ही बड़ा निर्णय था जिसके कारण से पंजाब की पूरी राजनीति हिल चुकी है और हाल ही में एक और बड़ी चीज है जो सामने आ रही है.

भाजपा ज्वाइन करने का विचार नही, क्षेत्रीय पार्टी बनाना ही एक मात्र विकल्प
अमरिंदर सिंह ने जब कांग्रेस को छोड़ने के बाद में ये ऐलान किया कि अभी के लिए उनका भाजपा ज्वाइन करने का भी कोई विचार नही है तो फिर ऐसे में उनके पास में बस एक ही रास्ता बचा है जिसके जरिये वो राजनीति में आगे बढ़ सकते है और वो ये कि पंजाब में अक्काली दल की ही तरह अपनी एक छोटी सी क्षेत्रीय पार्टी बना ले और उसका नेतृत्व खुद करते हुए आगे बढे.

ये बात तो तय है कि इसके जरिये वो पंजाब में अपनी सरकार तो नही बना पायेंगे लेकिन उनके चेहरे के दम पर वो इतनी सीट्स लाने में सक्षम है कि एक तीसरा मोर्चा खडा कर ले या फिर किसी भी सरकार को बनाने में निर्णायक भूमिका निभाने वाली पार्टी बन जाए.

भाजपा के सिवा कोई चारा नही
अभी के लिए राजनीतिक विश्लेशको का ये मानना है कि अभी के लिए हो सकता है अमरिंदर सिंह अलग पार्टी बनाकर के पंजाब की राजनीति में नए सिरे से प्रवेश की कोशिश करे लेकिन अब क्योंकि कांग्रेस से तो उनका छत्तीस का आंकड़ा बन चुका है ऐसे में सत्ता में जाने के लिए उनको भाजपा का सहारा लेना ही पड़ेगा.

ये जो भी घटनाक्रम चल रहे है उससे इतना तो पता चलता ही है कि अभी पंजाब की राजनीति कई नए मोड़ लेने वाली है और यहाँ पर कई सारे उतार चढ़ाव दिलचस्पी के साथ में नजर आयेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here