संतो ने कर दी योगी जी के सामने मायावती मुलायम की तारीफ़, तो सीएम योगी ने दिया ऐसा जवाब

0
2144

योगी आदित्यनाथ स्वयं एक संत समाज से आते है और ये बात हम लोग भी बहुत ही अधिक अच्छे से जानते है. कही न कही आज वो सीएम है लेकिन कभी वो गोरखनाथ मंदिर को ही संभालते थे और ऐसे में अगर उनके ही समाज से कोई व्यक्ति उनके विरोधियो की तारीफ़ करेगा तो उन्हें कैसा लगेगा? अब जाहिर तौर पर एक सामान्य व्यक्ति को ये खराब लग सकता है लेकिन सीएम योगी इस मामले में बहुत ही अधिक अलग है. ये बात हम लोग भी बहुत ही अच्छे से जानते है.

शंकराचार्य वासुदेवानंद सरस्वती ने कर दी थी मायावती और मुलायम सिंह की तारीफ़
अभी हाल ही में एक प्रोग्राम की बात है जिसमे सीएम योगी भी मौजूद थे. उनके सामने शंकराचार्य वासुदेवानंद सरस्वती ने अपने संबोधन में कहा कि आज प्रदेश में संस्कृत की स्थिति क्या हो गयी है? मैं इस पर न ही बोलूँ तो अधिक अच्छा है. मैं मुलायम सिंह को धन्यवाद करता हूँ जो उन्होंने माध्यमिक स्तर पर संस्कृत के विद्वानों को लाया और उनको व्यवस्थित करके उनको वेतन भी प्रदान किया.

वो यही पर ही नही रुके उन्होने मायावती की भी तारीफ़ की और कहा कि उन्होंने भी नियुक्तियां आदि लाई और सीएम योगी से कुछ और अधिक काम करने की अपील की. मगर सबको ये तारीफे खटक रही थी कि क्या वाकई में वो ऐसे कर सकते है?

योगी ने अप्रत्यक्ष रूप से दिया जवाब, बोले सरकार इस पर जरुर काम करेगी
आम तौर पर कोई और नेता मंत्री होते है तो इस तरह की बातो पर नाराज हो जाते है लेकिन योगी जी ने सकारात्मक रूप से जवाब दिया और आश्वासन भी प्रदान किया जिसमे वो कहते है कि भारतीय संस्कृति को बचाने के लिए हर भारतीय को तैयार रहना पड़ेगा.सरकार पूरी इमानदार के साथ में अपना काम करने की कोशिश कर रही है.

हमने तो सभी धार्मिक पीठो से कहा है कि वो उत्तर प्रदेश में अपने संस्कृत विद्यालय खोले सरकार उसमे पूरा सहयोग करेगी. हमें इसे हर स्तर पर आगे बढ़ाना है. यहाँ पर योगी जी ने पूरी बात को अपने फेवर में आखिर में ले ही लिया. यहाँ पर वो अगर नाराज हो जाते तो शायद वो ही बुरे माने जाते लेकिन उन्होने काफी अच्छे से सब संभाल लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here