मोदी बनाने जा रहे देश में नैटग्रिड, जो चीन पाकिस्तान तालिबान सबसे एक साथ निपट लेगा

0
6868

आज के समय में भारत एशिया में उस स्थिति में है जहाँ पर अलोकतांत्रिक ताकते कही न कही भारत के लिए रिस्क पैदा कर रही है और ऐसे वक्त में जरूरी हो गया है कि भारत ऐसे कदम उठाये जिससे देश की सीमाओं की और उसके अलावा देश के लोगो की सुरक्षा की जा सके. इस सम्बन्ध में काफी बड़े कदम उठाये जा रहे है लेकिन इस कड़ी में एक और बड़ा निर्णय लिया गया है जो हर किसी को बहुत ही अधिक खुश भी कर रहा है और देश की सुरक्षा एजेंसियों को तो काफी पसंद भी आ रहा है.

सभी सुरक्षा और ख़ुफ़िया एजेंसियों का केन्द्रीकरण है नेटग्रिड, भारत में बिना जानकारी के एंट्री को भी बना देगा असंभव
अभी सरकार जिस नेटग्रिड सिस्टम को विकसित कर रही है वो कोई संस्था नही बल्कि एक केन्द्रीकरण व्यवस्था है. इसके तहत देश की कई बड़ी एजेंसियों जैसे रॉ, आईबी, सीबीआई, एनआईए आदि का डाटा एक जगह पर कंपाइल किया जायेगा और ये भारत सरकार के पास में हर टाइम रियल टाइम में मौजूद रहेगा.

इसके जरिये इन एजेंसियों में कम्यूनिकेशन टेक्नोलॉजी विकसित कर ली जाएगी, ये ठीक वैसा ही होगा जैसा अमेरिका जैसे देशो में होगा और इससे भारत में किस कोने में कहाँ पर कौन विदेशी एंट्री ले रहा है, कौन संदिग्ध काम कर रहा है, किसके द्वारा कहाँ पर गलत फोन किये गये है उन सब पर बड़ी आसानी से न सिर्फ नजर रखी जा सकेगी बल्कि इसका डाटा भी एजेंसियों के पास में एक केन्द्रीय डेटाबेस के माध्यम से उपलब्ध हो जाएगा.

सुरक्षा होगी चाक चौबंद, भारत की सीमाएं होगी पहले से अधिक मजबूत
|इससे सेना हो या कोई भी सुरक्षा एजेंसी हो सभी के पास में देश की सुरक्षा से जुड़े बेहतर डाटा और कई डाटा उपलब्ध होंगे, काफी कुछ है जो गुप्त रूप से हाई टेक कर दिया जाएगा जिससे चीजे भारत सरकार के कण्ट्रोल में रहेगी और भारत एक तरह से काफी अधिक बेहतर तरीके से हमारी इंटेलिजेंस काम करेगी.

माना जाता है कि अगर ऐसा सिस्टम पहले हमारे पास में होता तो मुंबई में ताज होटल में जो कुछ भी हुआ था और कई लोगो की जान गयी थी वो नही होता. मगर अब इसे और अधिक बेहतर स्थिति में आगे बढ़ाया जा रहा है और जल्द ये लांच होने को है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here