प्रधानमंत्री मोदी ने बुलायी हाई लेवल मीटिंग, काफी चिंता में दिखे

0
3773

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काफी अधिक लम्बे समय से बहुत ही कशमकश भरी स्थिति में है क्योंकि आये दिन कुछ न कुछ दिक्कते चलती ही रहती है. कभी चीन को लेकर दिक्कते, कभी पाक उछल कूद करता है, कभी अफगानिस्तान में बवाल हो जाता है, कभी अमेरिका अपनी पालिसी में बदलाव ले आता है, कभी करोना के केस बढ़ने लगते है तो कभी इकनोमिक दिक्कते आने लगती है. पिछले दो वर्ष तो इस मामले में कुछ ज्यादा ही अस्थिर रहे है और ये हम लोगो ने बहुत ही अच्छे देखा भी है.

देश में करोना की स्थिति को लेकर हुई मीटिंग, त्यौहारी सीजन में हालात और टीकाकरण पर बात
आपको मालूम ही होगा कि भारत देश अभी भी करोना से पूरी तरह से मुक्त नही हुआ है. आज भी देश में 40 हजार के करीब केस हर रोज आ रहे है और ये अपने आप में काफी अधिक चिंता पैदा करने वाली स्थिति कही जा सकती है क्योंकि अभी सर्दियाँ आने वाली है और त्यौहार का सीजन भी रहेगा तो ऐसे में केस फिर से बढ़ने और तीसरी लहर आने की टेंशन बढ़ रही है.

ऐसे में सरकार चाह रही है कि कम से कम 100 करोड़ लोगो को पहली डोज तो लगा ही दी जाये और फिर धीरे धीरे करके दूसरी डोज भी लगती रहेगी. अगर ऐसा हो जाता है तो फिर ये अपने आप में एक बड़ा बेंचमार्क होगा और इससे कही न कही देश में करोना के खिलाफ एक बड़ी इम्यूनिटी विकसित हो पाएगी.

अफसरों ने सौंपी रिपोर्ट, अभी काफी काम बाकी
हाँ देश के पास में आज की डेट में काफी बढ़िया इंफ्रास्ट्रक्चर हो गया है और टीकाकरण काफी तेजी से हो रहा है मगर फिर भी रिस्क तो आज भी है और ऐसे में अफसरों की तरफ से पीएम को रिपोर्ट्स भी बताई गयी है और अपनी तरफ से हो रही प्लानिंग से भी अवगत करवाया गया है.

अभी तो सरकार चाहती है कि देश में तीसरी लहर आये ही न क्योंकि अगर ये आती है तो फिर अपने आप में ये काफी अधिक बुरा होगा और स्थिति काफी अधिक खराब भी हो सकती है. जनता पहले ही काफी अधिक झेल चुकी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here