टाटा की मदद से मोदी बनायेंगे भारत को आत्मनिर्भर, सेना को भी नही रहेगी विदेशी साजो सामान की जरूरत

0
3109

टाटा समूह हमेशा से ही भारत को आगे पहुंचाने वाली कम्पनी के रूप में जाना जाता रहा है और जिस तरह से इन्होने पिछले कुछ एक समयकाल में काम किया है उसके कारण से टाटा का नाम और रूतबा जाहिर तौर पर काफी अधिक बढ़ा ही है ये बात हम सब लोग बखूबी जानते है. अब इसे मोदी सरकार की मदद से नए मुकाम पर पहुंचाने के ऊपर काम किया जा रहा है जहाँ पर टाटा इंडियन एयरफ़ोर्स के लिए एक मजबूत निर्माणकर्ता बनने की तरफ कदम उठाने जा रहा है और इससे बेहतर कुछ और हो नही सकता.

भारत ने एयरबस को दिया है एयरक्राफ्ट का आर्डर, लेकिन बनेगा टाटा की फेसिलिटी में
भारत ने अभी हाल ही में यूरोप की कम्पनी एयरबस को इंडियन एयरफाॅर्स के लिए तकरीबन 20 हजार करोड़ रूपये का आर्डर दिया है जिसके तहत 16 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट तो ये कम्पनी तुरंत स्पेन से ही बनाकर के भारत को डिलीवर कर देगी और बाकी के सारे एयरक्राफ्ट भारत में आकर के बनाये जायेंगे. इसके लिए पार्टनर कम्पनी के तौर पर टाटा ग्रुप को चुना गया है जो ये निर्माण का कार्य करने वाली है.

टाटा के यहाँ पर भारतीय वायुसेना के लिए इस्तेमाल होने वाले अत्याधुनिक वाहक विमानो की एसेम्बिलंग से लेकर और कई काम होंगे. इससे कही न कही भारत में जाने अनजाने में ही सही लेकिन खुद ही सेना के लिए विमान बनाने की केपेसिटी विकसित हो जायेगी और टाटा जब ये विमान विदेशी कम्पनी की मदद से बनाएगा तो फिर जाहिर तौर पर उसकी टेक्नोलॉजी को भी काफी बारीकी से समझ ही लेगा.

भविष्य में अपग्रेड के जरिये खुद भारतीय कम्पनियां बना पाएगी विमान
अभी के लिए तो ये मुमकिन नही लेकिन अगर इस तरह से टाटा को एयरबस के साथ में काम करने का मौका मिलेगा तो फिर भारतीय कम्पनियां भी वाहक विमान बनाने लग जायेगी और इससे इंडियन एयरफ़ोर्स की जरूरते पूरी हो सकेगी.

कुल मिलाकर के आप इसे आत्मनिर्भर भारत की तरफ एक बहुत ही बड़ा कदम मान सकते है जिसके कारण से लोगो को काफी अधिक फायदा ही देखने को मिलने वाला है. खैर जो भी है चीजे वक्त के साथ में बेहतर हो ही जाती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here