नोर्दर्न अलायन्स के साथ जा सकते है ये सारे देश, अफगानिस्तान से तालिबान को भगाने की तैयारी

0
5881

अमेरिका जब से अफगानिस्तान को छोड़कर के वहां से गया है तब से ही वहां पर लोग काफी अधिक अजीब किस्म की स्थिति में फंस गये है. एक तरफ तालिबान ने अपने नए नियम लाद दिए है तो दूसरी तरफ आप देखेंगे किस तरह से पंजशीर में कई लोग है जो अभी भी हजारो की संख्या में तालिबान का विरोध करने के लिए बस जुटे हुए है और ये अपने आप में बहुत ही बड़ी बात है. खैर जो भी है अगर हम लोग बात करे आज की तो आज की तारिख में दो देश खुलकर तालिबान के विरोध में है.

ताजिकिस्तान और ईरान तालिबान की सरकार को नही देंगे मान्यता, नोर्दर्न अलायन्स को मिल सकता है बल
अभी हाल ही में अफगानिस्तान का एक पडोसी देश यानी पाकिस्तान जहाँ तालिबान को जमकर के सपोर्ट कर रहा है वही दूसरी तरफ दो पडोसी देश यानी ताजिकिस्तान और ईरान दोनों ही तालिबान के विरोध में नजर आ रहे है. खुलकर अभी कोई कुछ कर नही रहा है लेकिन चाल ढाल सब कुछ बता ही देती है.

ताजिकिस्तान ने उपलब्ध करवायी थी
कुछ दिन पहले मदद कई मीडिया रिपोर्ट्स बता रही है कि ताजिकिस्तान ने नोर्दर्न अलायन्स के लोगो को अपनी तरफ से अच्छी खासी मदद उपलब्ध करवाई थी. अपने एयरक्राफ्ट की मदद से उनको रसद से लेकर लड़ने के लिए वीपन आदि भी उपलब्ध करवा दिए गये थे जिनकी मदद से आज भी वो काफी हद तक तालिबान वालों को पंजशीर में घुसने से लगातार रोक रहे है.

ईरान ने भी पंजशीर के लिए जताई संवेदना, हस्तक्षेप करने की बात भी कही
ईरान ने अभी के लिए तालिबान की सरकार को मान्यता देने से साफ़ तौर पर इनकार कर दिया है. यही नही पंजशीर में जो कमांडर शहीद हुए है उन लोगो के लिए भी अपनी तरफ से ह्रदय से संवेदना प्रकट की है, भविष्य में इस पर विदेशी हस्तक्षेप की संभावनाओं के ऊपर भी विचार किया जा रहा है.

इससे पता चलता है कि तालिबान के विरोध में एक दो नही बल्कि कई देश उतरे हुए है और हो सकता है आने वाले वक्त में धीरे धीरे करके ये साफ़ होता चला जाए और अफगान लोग फिर से एक आजाद जिन्दगी जी सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here