मोदी के ख़ास ‘पीयूष गोयल’ एक्शन में, बड़ी क्रान्ति लाने की तैयारी में

0
2097

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी केबिनेट काफी अधिक तेजी के साथ में इस बात को लेकर के काम कर रही है कि किस तरह से देश को अधिक विकास की तरफ क्रमित किया जाए और इसके लिए अलग अलग तरह की स्कीम्स भी लाई जा रही है. अब ये सब काम अकेले मोदी तो कर नही सकते और इसी कारण से वो अपने केबिनेट में कई ऐसे बड़े बड़े नामो को शामिल कर चुके है जो अपने ऐतिहासिक फैसलों के लिए जाने जाते है और इनमे से एक पीयूष गोयल भी है.

भारत बनेगा विश्व का टेक्सटाइल हब, पीएलआई स्कीम को दी गयी मंजूरी
एक बात तो हम सब जानते है कि भारत में खूब कपास होता है, भारत में कृत्रिम धागा भी बहुतायत में और सस्ते में बनता है जिस कारण से आज भी भारत में कपडा विश्व के कई देशो की तुलना में सस्ता है और अब इसका अंतर्राष्ट्रीयकरण किये जाने की जरूरत नजर आने लगी है. इस सम्बन्ध में अब मोदी सरकार ने टेक्सटाइल क्षेत्र में पीएलआई स्कीम को मंजूरी दे दी है जिसके तहत भारत में टेक्सटाइल क्षेत्र में निर्माण करने पर सरकार भारी वित्तीय फायदा मुहैया करवाएगी.

प्रारंभिक तौर पर अभी ये फायदा 10 से 11 हजार करोड़ रूपये का होने वाला है और ये भारत की इकॉनमी को बहुत ही अधिक बड़ा बूस्ट देगा. इससे माना जा रहा है भारत में नयी कपास क्रान्ति भी आ सकती है जो निचले स्तर पर काम कर रहे लोगो के जीवन स्तर को सुधारने का काम करेगी और लाखो लोग बेरोजगारी से  बाहर आ पायेंगे.

इलेक्ट्रॉनिक्स में पीएलआई स्कीम रही है कारगर
मोदी सरकार ने इस पीएलआई स्कीम को इलेक्ट्रॉनिक्स के सेक्टर में आजमाकर के देख लिया है और इसकी बदौलत आज देश के विभिन्न शहरो में मोबाइल फोन से लेकर टीवी और तमाम इलेक्ट्रॉनिक आइटम बनने लगे है और भारत इस क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने की तरफ आगे चला गया है.

यानी पीयूष गोयल का ये कदम भारत को पांच ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी बनाने की तरफ एक बहुत ही बड़ा कदम होने वाला है और कही न कही इसके प्रभाव से चीजे काफी हद तक बेहतर और आसान टाइप की होने वाली है और देश में विदेशी निवेश भी बढ़ेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here