मिशन अफगानिस्तान पर अजित डोभाल, जल्द तालिबान का पत्ता साफ करने की तैयारी

0
7190

अभी के लिये अफगानिस्तान में तालिबान का राज आ चुका है और इस बात में कोई भी संशय नही है कि जो कुछ भी हुआ है उसके कारण से बहुत ही बड़ी संख्या में एशिया में अस्थिरता का सामना किया जा रहा है और अब ऐसे वक्त में भारत की सेना तो कुछ ज्यादा दूर जाकर के नही कर सकती है लेकिन भारत का ख़ुफ़िया प्रणाली तंत्र जरुर बहुत कुछ कर सकता है और इस सम्बन्ध में चीजे काम पर लग चुकी है. इसके नजारे हम लोग लगातार हो रही बैठको में देख सकते है.

डोभाल हुए तालिबान पर एक्टिव, सीआईए और रूसी सुरक्षा अधिकारी दोनों के संपर्क में
अभी भारत की तरफ अफगानिस्तान में तालिबान के खतरे को देखते हुए मोदी सरकार ने भारत के जेम्स बोंड कहे जाने वाले अजित डोभाल को तुरंत प्रभाव से सक्रीय कर दिया है क्योंकि संभावना है तालिबान वखान कोरिडोर के जरिये जम्मू कश्मीर में अस्थिरता फैलाने की कोशिश करे. इस सम्बन्ध में संजीदगी दिखाते हुए डोभाल लगातार कई इंटरनेशनल हाई लेवल मीटिंग कर रहे है.

कई मीडिया रिपोर्ट्स से पता चला है कि अजित डोभाल ने अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए के प्रमुख के साथ में भी एक गुप्त मीटिंग की है, वही रूस के सुरक्षा अधिकारियो से भी उनकी बात हो रही है. इस हफ्ते के भीतर कुछ बड़े बड़े ख़ुफ़िया तन्त्र से जुड़े हुए लोग भारत आ सकते है जिनके साथ में को ऑपरेशन करके भारत विश्व शान्ति और सुरक्षा को बेहतर करने के लिए महत्त्वपूर्ण कदम उठाएगा.

अभी अन्दर घुसकर तालिबान को हिलाना मुश्किल, मगर इनको कमजोर करके रखने पर कोशिशे जारी
अभी जबसे अमेरिका अफगानिस्तान छोड़कर के निकल गया है उसके बाद में अफगानिस्तान की जमीन पर जाकर के तालिबान को रोकना मुश्किल है लेकिन भारत लगातार ख़ुफ़िया और डिप्लोमेटिक तरीके से इस कोशिश में लगा हुआ है कि तालिबान कभी इतना ताकतवर बन ही न पाए कि वो इधर आने की सोचे.

फिर जब इसकी कमान अजित डोभाल जैसे विश्वसनीय अधिकारी को दे दी जाती है जिनके सहारे पूरा देश चैन की नींद सो रहा है तो फिर भारत की सरकार भी इस मामले में आश्वस्त है कि विश्व की अन्य ख़ुफ़िया एजेंसियों की मदद से डोभाल की मौजूदगी में भारत कई इंटेलिजेंस इनपुट हासिल  कर लेगा जिससे देश की सीमाओं को सुरक्षित किया जा सकेगा और तालिबान को दूर से ही कमजोर कर दिया जा सकेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here