नेपाल अब चीन को छोड़कर फिर से भारत के पाले में आ गया है, नेपाल सरकार का बड़ा फैसला

0
5181

अभी की बात अगर हम लोग करते है तो नेपाल आज की डेट में भारत का सबसे ख़ास पडोसी देश है लेकिन हमने ये भी देखा था कि जब केपी ओली प्रधानमंत्री बने हुए थे उन दिनों में इस देश के समीकरण पूर्ण रूप से बदल चुके थे और कही न कही नेपाल अपने आपको चीन के सामने समर्पित करते हुए दिखाई दे रहा था लेकिन अब ऐसा नही होगा क्योंकि अब वहां पर अपने देश के लिए काम करने वाली और सही दोस्तों को चुनने में सक्षम सरकार वापस आ चुकी है.

केपी ओली थे चीन के अतिक्रमण पर चुप, अब शेर बहादुर ने दिए जांच के आदेश
आपको मालूम हो तो चीन काफी अधिक मात्रा में नेपाल की जमीन पर कब्जा कर रहा था ऐसे आरोप लगे थे और इस मामले में तत्कालीन प्रधानमंत्री केपी ओली ने कोई एक्शन भी नही लिया था. ये तब हुआ था जब वो सरकार में थे और कही न कही इस कारण से नेपाल ने कथित तौर पर अपनी काफी जमीन चीन के हाथो गँवा दी थी क्योंकि वो उस वक्त चीन को खुश करने में लगे हुए थे.

मगर वर्तमान प्रधानमंत्री शेर बहादुर देबुआ इस मामले में बहुत ही अधिक अलग है. उन्होंने तुरंत प्रभाव से इस मामले में जांच के आदेश दिए है और अगर चीन की तरफ से नेपाल की जमीन पर कब्जा किया गया है तो उसे पीछे हटाने के ऊपर भी काम किया जाएगा चाहे उसे इस बात का अच्छा लगे या फिर बुरा लगे इस मामले में नेपाल की वर्तमान सरकार को कोई फर्क नही पड़ता है.

भारत को लेकर काफी सॉफ्ट है देबुआ
अगर बात करे उनके भारत के प्रति रवैये की तो उस मामले में वो बहुत अधिक सॉफ्ट है. उन्होंने ये तक कह दिया कि भारत और नेपाल दोनों ही देशो के बीच में बहुत ही गहरे और पुराने सम्बन्ध है जिसकी जगह और कोई ले ही नही सकता है. जाहिर तौर पर इसी से उन्होंने अपनी ओर से विशेष संकेत दे दिए थे.

ये चीजे हमें अच्छे तरीके से बता देती है कि जो कुछ भी हुआ है वो अच्छा ही हुआ है और नेपाल एक रूप में एक अच्छा पडोसी भारत को फिर से मिलने जा रहा है और ये एक अच्छी बात है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here