पीएम मोदी ने कहा ‘आतंक की सत्ता कभी स्थायी नही रहती’, नाराज तालिबान ने कही ये बात

0
12272

आज अफगानिस्तान में तालिबान का  कब्जा हो चुका है और इसके कारण से किस तरह के प्रभाव एशिया पर पड रहे है वो तो हम देख ही रहे है. अफगानिस्तान के रूप में जो हमारा एक साथी व मित्र देश हुआ करता था वो हमने खो दिया है और कही न कही इसके कारण से अब भारत को काफी अधिक आक्रामक होने की जरूरत भी आन पड़ी है. अभी हाल ही में पीएम मोदी ने एक बयान भी दिया था जिसे सीधे तौर पर तालिबान के साथ में जोडकर के देखा जा रहा है.

सोमनाथ मंदिर से जुड़े कार्यक्रम में बोले थे मोदी, निशाने पर नजर आया तालिबान
प्रधानमंत्री मोदी एक ऐसे बेबाक नेता है जो किसी से डरते करते है नही और उनको जो कहना है वो बोल ही देते है. अभी हाल ही में उन्होंने सोमनाथ मंदिर के कार्यक्रम में कहा था कि ये जो भी तोड़ने वाली ताकते है जो सोचती है आतक के बल पर सत्ता कायम कर लेंगे ये कभी भी स्थायी नही हो सकते है. ये बहुत अधिक समय तक के लिए मानवता को दबाकर के नही रख सकते है.

तालिबान बोला, हमारे मामलों में दखल न दे भारत हम शान्ति चाहते है
तालिबान पीएम मोदी के बयान के बाद से लगातार बिलबिला रहा है क्योंकि भारत जैसी एशिया की महाशक्ति के बोलने से एक डिप्लोमेटिक प्रेशर तो बन ही जाता है. पाक के एक रेडियो पर बात करते हुए तालिबान ने कहा कि हमारा संगठन सफल रहेगा, भारत बहुत ही जल्दी ये देखेगा कि तालिबान देश को चला सकता है.

तालिबानी नेता ने रेडियो को दिए इंटरव्यू में ये भी कहा कि भारत हमारे आंतरिक मामलो से दूर रहे. हम तो हर किसी के साथ में शान्तिपूर्ण रिश्ते चाह रहे है. तालिबान ने अपने देश में पूर्ण इस्लामिक शासन लगाने की बात भी कही है. कुल मिलाकर के देखे तो पीएम मोदी के इक छोटे से बयान ने पूरे तालिबान में खलबली मचाकर के रखी हुई है क्योंकि अभी दुनिया का कोई भी वर्ल्ड लीडर मोदी की तरह इनको लताड़ नही लगा रहा है.

भारत का रवैया स्पष्ट, हम बुराई के पक्ष में नही
हालांकि भारत को अपने स्ट्रेटजिक फायदे भी देखते है लेकिन अभी हाल ही के पीएम मोदी व विदेश मंत्री एस जयशंकर के बयानों से स्पष्ट हो ही जाता है कि चीन या पाक की तरह भारत फ़िलहाल के लिए तो कम से कम तालिबान को मान्यता देने के मूड में नही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here