पहले मुनव्वर ने की थी भारत और तालिबान की तुलना, लताड़ने पर कही योगी जी को लेकर ये बात

0
4097

जब से अफगानिस्तान में तालिबान का शासन आया है उसके बाद से ही मुनव्वर राणा लगातार चर्चाओं में बने हुए है क्योंकि उनके कुछ एक बयान ही ऐसे है जो भारत को लेकर के अजीब रहे है. उनकी बातो की सोशल मीडिया पर अक्सर आलोचना भी होती है और हाल ही में उन्होंने जो बाते कही है वो कोई पहली बार नही कही है. पहले भी कथित तौर पर उनके द्वारा ऐसी बाते कही गयी है जिससे देश की प्रतिष्ठा को चोट पहुँच जाती है. मगर शायद उनको इन सब बातो से कोई फर्क नही पड़ता है.

तालिबान की तुलना ऋषि वाल्मीकि से की, यूपी में खुदको डर में भी बताया
अभी कुछ समय पहले की बात है जब शायर कहे जाने वाले मुनव्वर राणा ने अपने बयान में हिन्दू समाज के संत माने जाने वाले ऋषि वाल्मीकि की तुलना तालिबान वालो के साथ में कर दी थी. उन्होंने कहा था कि वाल्मीकि पहले क्या थे और क्या हो गये? तालिबान के लोग भी पहले बुरे थे लेकिन अब नही है, अब माहौल बदल चुका है. उन्होंने एक तरह से तालिबान वालो का बचाव किया है. यही नही उन्होंने यूपी में डर लगने और यहाँ से भाग जाने की बात कही थी. योगी आदित्यनाथ को लेकर के नकारात्मक बाते बोली थी.

अब लोगो ने लताड़ा तो बोले मुझे मोदी से इश्क, योगी पर भी तेवर पड़े
नरम अब जब लोगो ने राष्ट्र स्तर पर मुनव्वर राणा को लताड़ लगानी शुरू कर दी और उनको लेकर के तमाम बाते कही जाने लगी और तो और कई लोगो ने उन्हें अफगानिस्तान चले जाने की सलाह दी. इस पर अब मुनव्वर ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि मेरी बात को गंभीरता के साथ में न लिया जाये वो मेने बस शायरी में कह दिया था. मुझे तो मोदी जी से इश्क है, मैं तो मोदी जी को पसंद करता हूँ. मेने जब अवार्ड वापिस किया तो वो नाराज थे.

मगर जब उन्होंने मेरी माँ के निधन पर पत्र लिखा तो फिर मैं उस समय काफी अधिक शर्मिंदा हुआ. योगी जी को लेकर के भी उन्होंने ये तक कह दिया कि मुझे लगता है शायद योगी आदित्यनाथ जब प्रधानमंत्री बन जाए तब उस वक्त वो लोगो से प्रेम के साथ में मिलने लगे.

कही न कही मुनव्वर का पासा पलटकर के उनके ऊपर ही पड़ने लगा है और ऐसे में वो खुदका डेमेज कण्ट्रोल करने की कोशिश में जुटे हुए है. मगर अब लग नही रहा है कि जनता या फिर क़ानून भी उनको माफ़ करने के मूड में है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here