अफगानिस्तान में लड़कियों को लेकर तालिबान ने लिया बड़ा फैसला

0
4014

अभी अफगानिस्तान में कोई भी लोकतंत्र या फिर मानवाधिकार बचते हुए नजर नही आ रहे है. जिस तरह से एक बड़े स्तर के अतिक्रमण के बाद में तालिबान ने सत्ता को हासिल कर लिया है वो अपने आप में विश्व को हैरान कर रहा है कि किस तरह से अफगान की आधिकारिक सेना ने अपने घुटने टेक दिए और तख़्त व ताज सीधे सीधे तालिबान वालो को सौंप दिया. अब ये देश एक तरह से इनके अंडर में ही है और हर कोई इसे देखकर के चिंतित भी है इस बात में कोई भी संशय नही है.

अब तालिबान ने किया ऐलान, न्यूज़ में नही दिखेगी महिला एंकर
अभी तक लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई सरकार ने अफगानिस्तान में महिलाओं को छूट दे रखी थी कि वो पत्रकारिता आदि के कार्य कर सकती थी लेकिन अब ऐसा नही होगा. तालिबान ने अपने न्यूज़ चैनल्स पर जो भी इक्के दुक्के चलते है उस पर से महिला न्यूज़ एंकरो को हटाने के लिए कह दिया है. अगर ये नही हटती है तो फिर इनके साथ में सरेआम सड़क पर क्या किया जाता है ये तो हर कोई बहुत ही अच्छे से जानता ही है.

अभी महिला अधिकारों के हनन की महज शुरुआत
अभी माना जा रहा है कि ये महिला अधिकारों की सिर्फ एक शुरुआत भर है और अभी तो उनकी शादी से लेकर उनके रहने पहनने तक हर चीज उनकी मर्जी से ही होगी और अगर इस तरह से करोडो औरतो के साथ में जीने के नाम पर मजाक किया जायेगा तो फिर वो कब तक जी पाएगी ये तो वो ही जानती है. मगर कही न कही ये बहुत ही बुरे दौर की शुरुआत के रूप में ही जाना जा रहा है.

अभी के लिए क्योंकि तालिबान का शासन है तो डर के मारे जो अधिकतर जो भी मीडिया आउटलेट्स आदि है वो भी सबको हटा रहे है. यही नही कई इंटरनेशनल महिला पत्रकार जो अफगानिस्तान में जाकर के रिपोर्टिंग कर रही थी वो भी मुंह पर हिजाब आदि ढके हुए नजर आयी. इससे पता चलता है कि दुनिया किस तरफ चली गयी है और हालात अपने आप में काफी बदतर है.

अब वैश्विक कम्यूनिटी इस पर क्या कहती है और किस तरह से इस पूरे मामले को हेंडल करती है ये देखने वाली बात होगी. अभी के लिए हालात बिलकुल भी अच्छे नही है और महिलाएं कोशिश कर रही है कि वो इस देश से निकल भागे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here