अपना देश छोड़कर भागे अफगानिस्तान के राष्ट्रपति, इस देश में आकर छुपे

0
3194

अभी के लिये अफगानिस्तान में क्या कुछ हो रहा है वो किसी से भी छुपा हुआ नही हिया और स्थिति काफी अधिक बुरी और गंभीर हो रखी है. एक के बाद में एक बड़े प्रांत और कई सारे बड़े शहर लेने के बाद में कल शाम को तालिबान ने पूरी तरह से काबुल में भी प्रवेश कर दिया. ये अफगानिस्तान की राजधानी है और इसमें प्रवेश करने का अर्थ है अब वहां की वर्तमान सरकार के पास में कुछ भी नही बचा और कही न कही ये हैरान करने वाला भी है. खैर अब तो तालिबान के कब्जे में पूरा अफगानिस्तान आ चुका है और ये हम देख रहे है.

जान बचाकर भागे अशरफ घनी, ताजिकिस्तान में छुपने की खबरे
अभी की जो खबर आ रही है उसके अनुसार कल देर रात को अशरफ घनी जो कि अफगानिस्तान के राष्ट्रपति है वो अपने निजी हवाई जहाज से देश छोड़कर के भाग गये है, उनके साथ में उनके कुछ ख़ास लोग और उनके परिवार के लोग भी थे. अब उन्होंने खबरों की माने तो पडोसी देश ताजिकिस्तान में शरण ली है जहाँ पर वो खुदको सुरक्षित रखना चाहते है.

पिछले राष्ट्रपति के साथ हुआ अंजाम देखकर के चांस नही लेना चाहते अशरफ घनी
जब पिछली बार की बात है एक बार और तालिबान राज आया था तब पिछले राष्ट्रपति को इन लोगो ने बीच सड़क परिवार वालो के साथ में बड़े ही गंदे तरीके से ख़त्म किया था. इस कारण से अशरफ घनी समझ गये कि अगर अब ये यहाँ पर रुके तो फिर इनकी भी हालत कुछ खराब या फिर ऐसी ही हो सकती है इसलिए जितना जल्दी हो सकता है उतना जल्दी यहाँ से निकल लेने में ही भलाई है.

हालाँकि कानून और नियमो के हिसाब से बात करे तो फिर चीजे अभी अशरफ घनी के हाथ में ही है क्योंकि अफगानी नियम और अंतर्राष्ट्रीय कानूनों के अनुसार पॉवर आज भी अशरफ घनी के हाथ में ही है और जब तक कि वो ट्रांसफर ऑफ पॉवर नही करते है तब तक तालिबान आधिकारिक तौर पर अंतर्राष्ट्रीय नियमो के अनुसार अपनी सरकार नही बना सकता है, मगर माना जा रहा है क़तर की राजधानी में मिलकर के जल्द ही अशरफ घनी तालिबान को सत्ता भी सौंप देंगे.

भारत और कई यूरोपीय देशो के लिए चिंता का समय
अपने पडोस में ही एक ऐसा देशजिसमे पूरे तालिबान का राज हो, ये अपने आप में हर किसी के लिये चिंता वाली बात है और प्लेन हाई जैक से लेकर कई दिक्कते है जो इस तरह की जमीन पर फलती फूलती है तो ऐसे में अभी के लिए अधिक सतर्क रहने की जरूरत तो आन ही पड़ी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here