मोदी के एक निर्णय ने आज पूरे देश और भारतीय सेना को बचा लिया

0
16276

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमेशा से ही अपने एक शानदार विजन के लिए जाने जाते है, उन्हें हर समय मालूम रहता है कि आगे चलकर के हमें क्या करना है और इसके परिणाम क्या निकल सकते है? कही न कही इसके पीछे न सिर्फ पीएम मोदी बल्कि उनके प्रशासन के बड़े बड़े अधिकारी भी उनके साथ में होते है और अभी की बात अगर हम लोग करते है तो हाल ही में एक निर्णय जिसकी सबसे अधिक तारीफ़ की जा रही है वो अफगानिस्तान से जुड़ा हुआ है और आज वो फैसला न होता तो आज हालात खराब होते.

अफगानिस्तान की सरकार ने मांगी थी भारत से सैन्य मदद, भारत ने नही भेजी सहायता
अफगानिस्तान की अशरफ गनी की सरकार ने अपनी सरकार और देश को बचाने के लिए अमेरिका के बाहर निकल जाने के बाद मे भारत से रिक्वेस्ट की थी कि वो कम से कम अपनी वायुसेना को हमारे पास में भेजे जो हमारा सपोर्ट प्रारम्भ करे और इससे हम लोग तालिबान को हरा देंगे. अब अफगान सरकार भारत की अच्छी खासी दोस्त थी और ऐसे में भारत दुविधा में पड़ गया लेकिन भारत ने अपनी पुरानी नीति को ही फॉलो किया और अपनी कोई भी फ़ोर्स अफगानिस्तान में नही भेजने का निर्णय किया.

अफगान सेना हर कोने से दुम दबाकर भागी, भारतीय सेना जाती तो सपोर्ट किसे करती
अभी जो भी अफगानिस्तान में हुआ है उसमे अफगानिस्तान के जो भी सैनिक है वो हर बेस और एयरबेस से तालिबान के आते ही तुरंत भाग खड़े हुए. ऐसे में अगर भारतीय सेना यहाँ पर इन्वोल्व होती तो पहले से ही भाग रहे लोगो को सपोर्ट कैसे करती? ऐसे में हो तो ये भी सकता था कि भारत की सेना भी इन लोगो के बीच में फंस कर के रह जाती और स्थिति गंभीर हो सकती थी.

संभवतः मोदी सरकार ने स्थिति को पहले से ही भांप लिया था कि क्या होने वाला है और इस कारण से उन्होंने निर्णय लिया कि अब से अफगानिस्तान की रिक्वेस्ट पर भी हम उन्हें किसी तरह का मिलिट्री असिस्टेंस उपलब्ध नही करवाएंगे क्योंकि ऐसा करने से हम खुद भी दिक्कत में आ सकते है. हालाँकि भारत पर उस समय विश्व कम्यूनिटी का दबाव काफी अधिक था लेकिन इसके बावजूद भारत ने ऐसा नही किया.

इतिहास में अब तक भारतीय सेना दो बार इस तरह की इनवेजन कर चुकी है जिसमे पहली बार बान्ग्लादेश जो आजाद करवा दिया गया था और एक बार श्रीलंका में पीस कीपिंग फ़ोर्स के रूप में भारत उतरा था. यानी भारत तब ही अपनी फ़ोर्स किसी दुसरे देश में उतारता है जब जीतने की पूरी पूरी संभावना हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here