एनडीटीवी से नाराज हुए मुसलमान, मिल रही धमकी

0
34231

आम तौर पर एनडीटीवी की बात करे तो इस चैनल की लोकप्रियता अल्पसंख्यक समुदाय में काफी अच्छी रहती है क्योंकि रवीश कुमार अपने अनुसार कथित तौर पर निष्पक्ष और सेक्युलर पत्रकारिता करने का दावा जो करते है. इस कारण से बाकी मीडिया ग्रुप्स की तुलना में एनडीटीवी की पत्रकारिता थोड़े अलग किस्म की होती है. इस कारण से मुस्लिम या फिर कई समुदाय से जुड़े हुए लोग इस चैनल की और इसके पत्रकारों की तारीफ़ भी करते है लेकिन अभी हाल ही में एनडीटीवी से उनके ही प्रियतम दर्शक नाराज हो रखे है.

केरल के करोना के बढ़ते केस में डेमो इमेज के तौर पर लगाई थी एक मुस्लिम युवक की फोटो, नाराज हो गये
आपको मालूम ही होगा कि अभी केरल में करोना के केस काफी अधिक तेजी के साथ में बढे है और इस कारण से वहाँ पर स्थिति बाकी राज्यों की तुलना में काफी खराब सी ही हो रखी है. ऐसे में एनडीटीवी ने बढ़ रहे करोना केसेज का रेफरेंस देने के लिए जो फोटो लगाई थी वो एक टोपी के साथ में मुस्लिम व्यक्ति की थी, जहाँ पर आम तौर पर किसी हिन्दू की फोटो भी लगा दी जाती है मगर मुस्लिम की लगने पर लोगो को ये पसंद नही आयी.

इस कारण से ट्विटर पर एनडीटीवी का विरोध शुरू हो गया. कई लोगो ने एनडीटीवी को गलत भाषा में चेतावनी देनी शुरू कर दी तो बहुत सारे लोग ऐसे भी है जिन्होंने उनके लिए गलत शब्दों का प्रयोग किया. इसके बाद में एक शर्जील उस्मानी नाम का लड़का जिसके पास में वेरीफाइड ट्विटर अकाउंट है उसने तो उस एनडीटीवी के कर्मचारी की डिटेल तक मांगनी शुरू कर दी जिसने यहाँ पर मुस्लिम व्यक्ति की डेमो के तौर पर फोटो लगाई है.

दबाव में आकर डिलीट किया ट्वीट, हार गया चैनल
आखिरकार मुस्लिम समुदाय के वार्निंग से डरने के बाद में एनडीटीवी ने अपना वो ट्वीट डिलीट कर दिया जिसमे उन्होंने एक टोपी वाले व्यक्ति का फोटो उपयोग में लिया था. कही न कही इससे उन्हें ये सीख तो मिल ही गयी है कि कब कहाँ पर किस चीज का इस्तेमाल करना चाहिए?

इस तरह के फोटो के इस्तेमाल के लिए सहनशील समुदाय के लोगो का इस्तेमाल किया जा सकता है जिसमे हिन्दू या फिर इसाई समुदाय के लोग होते है जिसके कारण उन्हें किसी तरह का रिस्क नही होता है लेकिन अगर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here