भारतीय सेना से अमेरिकी सेना की जगह लेने की अपील, क्या मोदी भेजेंगे अपने विमान

0
4165

अभी आज की तारीख में पूरे एशिया में किस तरह की स्थिति बनी हुई है ये किसी से भी छुपी छुपायी हुई बात नही है. बात कर रहे है यहाँ पर हम अफगानिस्तान की जहाँ पर तालिबान लगातार अपना कब्जा जमाता चला जा रहा है और ऐसे वक्त में एक बात तो पूरी तरह से साफ है कि आने वाला वक्त पूरे एशिया के लिए काफी खराब होने वाला है. अब ऐसे वक्त में भारत की भूमिका बहुत ही अधिक अहम् हो सकती है क्योंकि एशिया में भारत के समान कोई शक्तिशाली देश इस स्थिति या पक्ष में है नही कि वो इसे रोक सके.

अफगानिस्तान की सरकार ने एस जयशंकर को पहुँचाया मेसेज, आपकी वायुसेना मदद के लिए आमंत्रित है
अफगानिस्तान के विदेश मंत्री ने हाल ही में भारत सरकार के विदेश मंत्री एस जयशंकर साहब को एक मेसेज भेजा है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उन्होंने अब खुलकर के भारत की तरफ से मदद की अपील की है. उनके अनुसार तालिबान से जो भी बातचीत का  रास्ता हो सकता था वो सब कुछ समाप्त हो चुका है और अब भारत ही है जो अपनी वायुसेना भेजकर के हमारा बचाव कर सकता है.

अमेरिका एक से दो हफ्ते में पूरी तरह कदम खींच सकता है पीछे
अफगानिस्तान की सरकार की माने तो आने वाले महज कुछ हफ्तों में ही अमेरिका जो अपनी वायुसेना की मदद से उन्हें एयर सपोर्ट कर रहा है वो भी पूरी तरह से बंद कर देगा. अब ये एक ऐसी स्थिति है जो अपने आप में काफी अधिक गंभीर है और ऐसे में अफगानिस्तान की सरकार चाहती है अमेरिकी फोर्सेज की जगह पर भारतीय फोर्सेज हमारी मदद कर दे तो फिर हम धीरे धीरे करके तालिबान को पीछे धकेल सकते है और फिर से यहाँ पर अमन कायम हो सकता है.

मिलिट्री भेजना भारतीय नीति के विरुद्ध, मगर इक्वीपमेंट उपलब्ध करवा सकता है
अभी भारत सरकार के सामने सबसे बड़ी समस्या ये है कि भारत की एक स्पष्ट नीति हुई है कि किसी भी और देश में किसी और के लिए हम लोग अपनी तरफ से सेना भेजकर के तीसरे की लड़ाई में टांग नही अडाने वाले है. ऐसे में भारत चाहे तो अफगान फोर्सेज को सिर्फ इक्वीपमेंट उपलब्ध करवाकर के ही काफी मदद कर सकता है.

जैसे भारत के पास में मिग 21 बायसन और जगुआर जैसे कई पुराने एयरक्राफ्ट पड़े हुए है. अगर भारत सिर्फ वही ही अफगानिस्तान को दे देता है तो उसी से ही वो तालिबान को काफी अधिक नुकसान पहुंचा सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here