अफगानिस्तान में हालात हुए बेकाबू, मोदी ने भेजे अपने वायुसेना के विमान

0
6211

अभी के इन दिनों में अफगानिस्तान में हालात बिलकुल भी अच्छे नजर नही आ रहे है. जिस तरह से वहाँ की लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई अशरफ गनी की सरकार आये दिन एक के बाद में एक शहर हारती चली जा रही है उसके बाद में नजर आने लगा है कि चीजे अब उनके काबू में नही है. कही न कही ये बात हम भी बखूबी जानते है कि अब भारत को कुछ तो करना ही होगा क्योंकि अफगानिस्तान में कई भारतीय भी तो रहते है. ऐसे में उनकी सुरक्षा का जिम्मा भारत के ऊपर ही है.

मजार ए शरीफ शहर तक पहुंचा तालिबान, भारत अपने नागरिको और राजदूतो को निकालेगा
अब अशरफ गनी की सरकार एक के बाद में एक बड़े शहर भी हारती चली जा रही है. हाल ही में अशरफ गनी के कण्ट्रोल में रहे मजार ए शरीफ शहर तक भी तालिबान के लोग पहुँच गये है और वहां पर भारत के बहुत ही बड़ी संख्या में लोग रहते है जिनकी जान मुश्किल में आ गयी है. स्थिति को भांपते हुए भारत ने अपनी वायुसेना को आदेश दे दिया है.

भारत की तरफ से वायुसेना के स्पेशल विमान अब अफगानिस्तान के लिए निकल रहे है और वहां पर जाकर के जो भी  भारतीय नागरिक मजार ए शरीफ में तालिबान के बीच में फंस गये है उन सभी को सुरक्षित रूप से निकाला जाएगा और इन लोगो की इतनी हिम्मत तो है नही कि ये भारतीय वायुसेना के विमान को किसी भी कीमत पर नुकसान पहुंचाने की कोशिश भी करे. इस कारण से अब एयरफ़ोर्स अपनी पूरी मुस्तैदी में आ गयी है और बड़ी संख्या में अपने लोगो के बचाव का कार्य शुरू कर दिया गया है.

अफगान सरकार खुद कह रही है, अपने नागरिको को ले जाओ
अफगानिस्तान की सरकार खुद विभिन्न देशो के नागरिको को ये कह रही है कि तालिबान कण्ट्रोल में नही है और ऐसे समय में ख़ास तौर पर अमेरिकी और ब्रिटेन जैसे देशो के नागरिको को तुरंत प्रभाव से कमर्शियल फ्लाइट्स की मदद से अपने देश के लिए निकल जाना चहिये उनको सरकार की तरफ से बचाव का इन्तजार नही करना चाहिए.

अब ये हाल ऐसे हो गये है कि अफगानिस्तान को देखकर के हर कोई समझ रहा है ये पहले वाला अफगान नही रहा है और चीजे बिलकुल ही अलग टाइप से काम करने वाली है. ऐसे में इतना तो हम लोग भी साफ तौर पर कह ही सकते है कि सभी देशो के नागरिको को अपने अपने अपने हिसाब से फैसले तुरंत करने होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here