इतिहास में पहली बार कांग्रेस ने मोदी सरकार का किया समर्थन, बोली आगे बढ़ो

0
11625

आम तौर पर हम लोग देखते है कि सदन में जो भी विपक्षी पार्टी के लोग होते है वो आम तौर पर भाजपा के खिलाफ ही रहते है क्योंकि विपक्ष में रहने की आज के वक्त में राजनीति में परिभाषा ही ये बन गयी है कि आपको किसी भी कीमत पर सत्ताधारी पार्टी का विरोध करना है अब चाहे वो गलत हो या फिर सही हो इससे क्या ही फर्क पड़ता है? मगर हाल ही में जो हुआ है वो किसी भी अजूबे से कम नही है क्योंकि कांग्रेस किसी मुद्दे अपर पहली बार भाजपा के साथ में आयी है.

ओबीसी से सम्बंधित विधेयक पेश किया गया, विपक्ष ने खुले दिल से स्वागत किया
मोदी सरकार ने अभी हाल ही में सदन में 127वा संसोधन विधेयक 2021 इस बार का सदन में पेश किया है जो कि ओबीसी लोगो से सम्बंधित है. ये विधेयक राज्य सरकारों को सामाजिक और शैक्षणिक दृष्टि से पिछड़े हुए वर्गों की स्वयम की सूची तैयार करने के लिए शक्ति देता है पॉवर देता है. कांग्रेस इस कदम से बेहद ही खुश है और इसका तहे दिल से स्वागत कर रही है. सिर्फ कांग्रेस ही नही बल्कि सारे के सारे दल इस मामले में एक मत है.

सीधे तौर पर इससे राजनीतिक दलों को फायदा, खेल पायेंगे जातिगत कार्ड
अभी इस बार का ये जो विधेयक पेश हो गया है इसके बाद में राज्य सरकारों के पास में पॉवर आ जायेगी जिससे वो ओबीसी जातियों का निर्धारण आदि कर पायेंगे जो पहले उनसे छीन लिया गया था और अगर ऐसा हो जाता है तो फिर जिन जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकार है वहां पर ये पार्टी अपने हिसाब से जातिगत कार्ड खेल पाएगी. इस वजह से कांग्रेस ने दिल खोलकर के मोदी सरकार को सपोर्ट किया है.

अधीर रंजन चौधरी बोले, हम इसे  पारित करवाना चाहते है
लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने भी कहा है कि आज सभी विपक्षी दलों ने निर्णय लिया है कि इस विधेयक पर चर्चा होनी चाहिए और हम लोग अन्य पिछड़ा वर्ग से जुड़े हुए इस विधेयक को जल्दी से जल्दी पारित करवाना चाहते है. इसे लेकर के न सिर्फ कांग्रेस बल्कि बाकी विपक्षी पार्टियाँ भी काफी अधिक उतावली नजर आ रही है

खैर जो भी है इससे इतना तो तय तौर पर मान सकते है कि वर्गीकरण देश में और अधिक तेजी से फैलेगा और लम्बे तौर पर इसके क्या कुछ परिणाम निकलकर के आयेंगे ये तो आने वाला समय ही बता पायेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here