मायावती का बड़ा बयान, बोली हम मोदी सरकार का संसद के अन्दर और बाहर दोनों जगह समर्थन करेंगे अगर

0
9903

मायावती की अपनी एक अलग किस्म की राजनीति है जिसके लिए वो जानी जाती है और कही न कही इसी वजह से कुछ एक अलग क्षेत्रो और विशेष समुदायों में मायावती की अपनी एक विशेष पहचान है. इसमें दलित समुदाय और पिछड़े समुदाय के लोग सबसे ज्यादा है, अगर हम लोग बात करे अभी की तो हाल ही में भी मायावती ने एक और पत्ता खेलने की कोशिश की हिया जो ओबीसी वोट्स से जुडा हुआ है और इसकी तरफ तो आजकल हर पार्टी का फोकस होता ही है क्योंकि ये सत्ता तक पहुँचने की चाबी है.

अगर सरकार करवाती है ओबीसी की जनगणना, तो हम करेंगे हर तरफ से समर्थन
मायावती ने अभी हाल ही के बयान में कहा है कि अगर केंद्र की मोदी सरकार ओबीसी समाज की जनगणना करवाने का सकारात्मक कदम उठाती है तो फिर वहाँ पर उनकी मदद करने के लिये और उनका साथ देने के लिए बसपा उनका संसद के अन्दर और संसद के बाहर हर जगह पर खुलकर के समर्थन देगी और उनके लिए जो भी संभव हो सकेगा वो करेगी. बसपा इस कदम के पूरी तरह से समर्थन में है.

जनगणना से बसपा को हो सकता है फायदा, मिलेगा वोट साधने का मास्टरप्लान
बसपा आम तौर पर दलित और पिछड़ी जातियों को लेकर के ही अधिक ताक में रहती है. ऐसे में अगर मायावती और उनकी पार्टी को पता चलता है कि किस जगह पर कितने ओबीसी जाति के लोग है तो उनके लिए तो बना बनाया सामान मिल जाने के सामान होगा. कही न कही इसके कारण से उनको काफी अधिक फायदा होते हुए नजर आएगा और इसी कारण से वो इस मामले में सरकार के साथ में खड़ी होते हुए भी नजर आएगी.

हालांकि ओबीसी वोट पर इन दिनों में काफी अधिक निशाना हर पार्टी लगा रही है. अभी हाल ही में मेडिकल में कोटा के मामले के भी मोदी सरकार ने ओबीसी के प्रतिशत को बेहतर कर दिया है जिससे कि उनके बच्चे अधिक संख्या में डॉक्टर बन सकेंगे. इसके अलावा भी और कई कदम उठाये जा रहे है और ये अपने आप में चकित करने वाला है.

माना जाता है कि इस समाज की जनसँख्या हर तरफ काफी अधिक बढ़ चुकी है और अगर कोई पार्टी ओबीसी समाज के बिना आगे बढना चाहती है तो उसके लिए सत्ता कोसो दूर है. इस वजह से मायावती हो या फिर भाजपा हो हर पार्टी के लोगो के लिये ये बहुत ही अधिक ख़ास है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here