भारत से ‘मित्र देश’ ने मांगी सेना भेजकर बचाने की मदद, हमें बचा लो मोदी जी

0
8678

भारत आज एक काफी विश्वसनीय देश है और कई छोटे देश है जो अपने विकास और सुरक्षा की बात आती है तो उस वक्त भारत की तरफ देखते है. भूटान उसका सबसे बड़ा और बेहतरीन उदारण है जहाँ के देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी भारत ने कई दशको तक उठायी और अभी भी भूटान की हर समय मदद करते हुए नजर आता है. अगर हम लोग अभी की बात करते है तो एक और देश है जो भारत की तरफ बड़ी उम्मीद से देख रहा है कि किसी न किस तरह से उसे बस बचा लिया जाए.

अफगान चाहता है भारत की मदद, बातचीत फेल हुई तो चाहेंगे भारत करे दखलंदाजी
अभी हाल ही में अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ घनी ने एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण बयान दिया है जिसमे उन्होंने कहा है कि अगर तालिबान के साथ में हमारी जो बातचीत चल रही है वो फेल हो जाती है तो फिर हम भारत से सैन्य सहायता मांगेंगे. यानी आधिकारिक रूप से मदद मांगने से पहले ही अफगानिस्तान ने भारत को इशारा कर दिया है कि हमारी मदद के लिए आ जाओ वरना हम कही के नही रहेंगे.

भारत के लिए अफगानिस्तान स्ट्रेटजिक रूप से देखे तो बहुत ही अधिक महत्त्वपूर्ण रहा है क्योंकि यहाँ पर भारत ने पूरे 3 बिलियन डॉलर का निवेश किया हुआ है और ये कोई छोटा आंकड़ा तो बिलकुल भी नही है. अगर हम लोग सही मायनों में बात करे तो इसके कारण से ही भारत के लिए अफगान काफी महत्त्वपूर्ण हो जाता है और अगर तालिबान ने यहाँ पर पूरा कब्ज़ा कर लिया तो फिर भारत के लिए भी बात हाथ से निकलने वाली हो जायेगी.

हालांकि अफगानिस्तान के पास में तालिबान से लगभग तीन गुना सेना है और अच्छे खासे वेपन भी मौजूद है लेकिन इसके बावजूद तालिबान हर जगह पर जीत रहा है और इसके पीछे का कारण उनका गुरिल्ला युद्ध में महारत हासिल होना भी माना जा रहा है. ऐसे में पाक तो इनके खिलाफ ही है लेकिन भारत अफगान की मदद कुछ कुछ जरुर कर सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here