भारत बनेगा अगला अमेरिका, सामने रखी वर्ल्ड क्लास योजना जो बदल देगी सब कुछ

0
2600

नितिन गडकरी भारत सरकार के उस मंत्री के रूप में अपनी पहचान बना चुके है जो सिर्फ काम को लेकर के मगन रहते है, उनके जीवन में मानो बाकी कुछ रह ही नही गया है इसलिए आज  भारत विश्व में हाईवे के मामले में टॉप के देशो में पहुँच चुका है और अभी तो आगे बहुत कुछ करने की तैयारी है. अभी तक सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय सिर्फ हाईवे बनाने और उसके इन्फ्रा को मजबूत करने के ऊपर काम करता था मगर अब ये सिर्फ वही तक ही सीमित नही रहेगा, बल्कि इसे दो कदम और आगे ले जाने की तैयारी है.

नितिन गडकरी का प्लान, हाईवे के पास में बसेंगे छोटे शहर और लोजिस्टिक्स पार्क
नितिन गडकरी ने अभी हाल ही में अपनी एक नयी योजना बताई है जिसके तहत वो देश के बड़े बड़े राजमार्ग जिनके पास शानदार कनेक्टिविटी है उनके पास में वो छोटे छोटे शहर एक तरह की टाउनशिप बसाने की योजना पर विचार कर रहे है और यही पर ही इंडस्ट्री और लोजिस्टिक्स पार्क भी बनेंगे. इसके लिए वो जल्द ही केन्द्रीय मंत्रिमंडल से भी  मंजूरी लेने जा रहे है.

हाईवे की शानदार कनेक्टिविटी से ये नए टाउनशिप और लोजिस्टिक्स पार्क बनेंगे सुपर फास्ट
ये तो हम जानते ही है कि आज के वक्त में देश में कई फोर लेन और सिक्स लेन तक हाईवे एक्सप्रेस वे बन चुके है लेकिन इनके आस पास में कई जमीने बेकार पड़ी है. इन जगहों पर भारत में अमेरिका की ही तरह कई मिनी टाउनशिप और लोजिस्टिक्स पार्क बनायेगा. इनकी मदद से भारत की अर्थव्यवस्था में काफी तीव्रता आएगी और पहली बार इस तरह का कांसेप्ट भारत में लाया जा रहा है जो अपने आप में बेहद ही ख़ास माना जा रहा है.

अमेरिका के विकसित होने के पीछे का सबसे बड़ा कारण यही माना जाता है कि वहां पर जो रोड है उसे बहुत ही अच्छे तरीके से विकसित किया गया और फिर लोजिस्टिक्स वहाँ से बहुत ही नजदीक रखे गये. ऐसे में क्या हम ये मान सकते है कि एक समय में उन्होंने जो किया था वो ही हम भी कर रहे है और आने वाले वक्त में भारत भी अगला विकसित देश बन सकता है अगर इसी तरह की योजनाएं आती रही.

हालाँकि अभी इसको मंत्री मंडल में प्रपोज किया जाएगा और फिर जमीन अधिग्रहण में भी कई दिक्कते देखने में आ सकती है. रास्ते में रूकावटे तो बहुत है लेकिन नितिन गडकरी इनको देखकर के रूकने वालो में से नही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here