मोदी ने आखिरकार दिखा ही दिया 56 इंच, बदल डाली चीन पर भारत की पूरी पॉलिसी

0
6041

भारत और चीन एक दुसरे के पडोसी देश है और दोनों को किसी भी हाल ही में पास तो रहना ही होगा क्योंकि पडोसी कभी बदल नही सकते, मगर इन सबके बावजूद चीन ने कभी भी एक अच्छा रिश्ता निभाने की कोशिश ही नही की. ये अपने आप में काफी अधिक बुरा था और लोगो के लिए चिंताजनक भी रहा. शुरू में भारत ने चीन को खुश रखने की कोशिश की लेकिन चीन की डिमांड और हरकते बढती ही चली गयी जिसके चलते भारत को अपनी पॉलिसी में एक बड़ा शिफ्ट लाना ही पडा है.

दलाई लामा को भारत में फिर से पहचान देने की प्रक्रिया शुरू, चीन को खुश रखने के लिए कर दिया गया था बंद
आपको ये तो मालूम ही होगा कि चीन दलाई लामा को बिलकुल भी पसंद नही करता है क्योंकि वो तिबत के धार्मिक गुरू है जिस पर उसने गलत रूप से अधिकार जमाया हुआ है. आज विश्व में चीन के खिलाफ दलाई लामा से बड़ा कोई चेहरा नही है और पिछले कुछ वर्षो में भारत सरकार ने चीन को खुश रखने के लिए दलाई लामा को कोई सन्देश भेजना, उनको पब्लिक में पहचानना तक रोक दिया था, मगर अब सब बदलने जा रहा है.

प्रधानमंत्री मोदी ने हाल ही में खुद दलाई लामा को फोन किया और फोन करके उनको जन्मदिन की बधाई दी. इसके बाद में उनके लिए भारत की तरफ से हमेशा तत्पर रहने की बात भी कही है, इसके अलावा पीएम मोदी ने ट्विटर पर भी दलाई लामा को लेकर के ट्वीट किया है. इस तरह की चीजे करने के बाद में चीन के लोग काफी अधिक नाराज है और कह रहे है कि आप एक तरह से हमारे विरोधी को ऐसा सम्मान कैसे दे रहे हो?

वही भारत ने अब सीधा निर्णय कर लिया है. आज भारत दलाई लामा के साथ है, इंडो पेसिफिक के साथ है और क्वाड के साथ तो है ही और इसी के जरिये आने वाले वक्त में चीन को अच्छे से काउंटर किया जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here