टेंशन में आयी उद्धव सरकार, सामने खड़ा है बड़ा संकट

0
2848

अभी वैसे तो पूरा देश ही आये दिन किसी न किसी मुसीबत से जूझ रहा है और दिक्कतों ने मानो एक तरह से अपना डेरा आम लोगो के जीवन में बसा लिया है लेकिन महाराष्ट्र के लोगो का तो जीवन एक तरह से पूर्णतः दूभर सा ही हो गया है और ऐसा होते हुए हम लोग हर रोज देख रहे है. सबसे ज्यादा केसेज इसी राज्य में आये, सबसे ज्यादा नौकरियां इस राज्य में प्रभावित हुई और जान भी सबसे अधिक लोगो को यही पर गवानी पड़ी है. मगर ये सब यही पर ही रूक नही रहा है.

महाराष्ट्र में डेल्टा प्लस वेरिएंट ने पसार लिए है पाँव, जाने लगी जान
अभी हाल ही की जो वैज्ञानिक स्टडी सामने आयी है उसके अनुसार महाराष्ट्र में डेल्टा प्लस वेरिएंट ने अपने पाँव पसार लिए है. इस मामले में एक व्यक्ति के जान जाने की आधिकारिक रूप से पुष्टि भी कर दी गयी है और ये  एक तरह से करोना की तीसरी लहर की दस्तक के रूप में भी देखा जा रहा है क्योंकि ये डेल्टा प्लस वेरिएंट पिछले वेरिएंट से भी कई गुना अधिक तेजी के साथ में फैलता है.

एफडीए मंत्री राजेन्द्र शिन्गने की माने तो इसके कारण से आने वाले वक्त में 50 लाख से अधिक मामले आ सकते है और इसके लिए हम सभी को और अधिक मजबूत होकर के तैयार रहना होगा. आईसीएमआर के पूर्व वैज्ञानिक डॉक्टर रमन गंगाखेडकर ने भी यहाँ पर यही कहा है कि डेल्टा वेरिएंट अगर इतना खतरनाक था तो फिर डेल्टा प्लस वेरिएंट को सीरियस लेना ही होगा.

महाराष्ट्र की किस्मत यहाँ पर और ज्यादा खराब नजर आती है क्योंकि पहले की तरह यही पर ही इसके केसेज आ रहे है लेकिन बाकी राज्यों के लिए भी अभी ये कोई शांत या फिर चुप हो जाने का वक्त नही है. इस वेरिएंट के कारण से

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here