नितिन गडकरी भारत में वो चमत्कार करने जा रहे है, जो हमें विश्वगुरु बना देगा

0
22607

भारत आज एक तेजी से उभरती हुई अर्थव्यवस्था है और यहाँ पर विकास होने के सारे लक्षण है और इस बात में कोई संशय भी नजर नही आता है. खैर अगर हम लोग अभी की बात करे तो यहाँ पर अब तेजी  से नयी नयी टेक्नोलॉजी और मॉडल को अपनाने की जरूरत महसूस होती है जो भारत को पूरी तरह से ट्रांसफॉर्म कर दे. इसके लिये हाल ही में नितिन गडकरी वो प्रोजेक्ट लांच कर चुके है जिसकी जरूरत देश को काफी लम्बे समय से थी और अब वो पूरी होने जा रही है.

भारत में बनेंगे इलेक्ट्रिक हाईवे, अगले वर्ष तक पहला प्रोजेक्ट हो सकता है डिलीवर
भारत की अर्थव्यवस्था आज की तारीख में हाईवे पर टिकी हुई है. हमारे लोजिस्टिक का एक बहुत ही बड़ा हिस्सा है जो हाईवे पर ट्रको के माध्यम से पूरा किया जाता है लेकिन दिक्कत यहाँ पर ये है कि ये काफी धीमें होते है और इनके फ्यूल में देश का खूब पैसा बर्बाद होता है. ऐसे में एक ई हाईवे की परिकल्पना की गयी है. इसमें हाईवे लेन्स में एक और लेन तैयार की जायेगी जिसके ऊपर इलेक्ट्रिक वायर सेट होंगे. ये ठीक वैसा ही है जैसा इलेक्ट्रिक वायर ट्रेन के ऊपर होते है.

फिर जैसे ट्रेन या  मेट्रो ऊपर के वायर से कनेक्शन करके चार्ज होती रहती है और चलती रहती है वैसा ही हाईवे पर ट्रक भी करेंगे. यही नही इन वायर में जो बिजली होगी वो भी सोलर ऊर्जा से तैयार की जायेगी तो ऐसे में अब पेट्रोल या डीजल के ट्रक नही बल्कि इलेक्ट्रिक ट्रक चलाने का समय आ चुका है और इसके लिए प्रोजेक्ट को हरी झंडी दे दी गयी है. इससे भारत के आयल इम्पोर्ट में भारी कमी आएगी क्योंकि धीरे धीरे सारे हाईवे इलेक्ट्रिक हो जायेंगे तो देश भर में जो भी ट्रक आपको घुमते हुए नजर आयेंगे वो पेट्रोल या डीजल से नही बल्कि बिजली से चलेंगे.

पहला हाईवे बनेगा दिल्ली से जयपुर
सबसे पहला इसका पायलट प्रोजेक्ट दिल्ली से जयपुर के बीच में लांच किया गया है जो लगभग 200 किलोमीटर का होगा और अगर ये पूरी तरह से सफल हो जाता है तो फिर इसके बाद में देश के और भी हाईवे का विधुतीकरण कर दिया जायेगा और भारत की आयल के ऊपर निर्भरता काफी हद तक कम हो जायेगी.

इसके अलावा सरकार इलेक्ट्रिक कारो के ऊपर तो फोकस कर ही रही है, तो ऐसे में भविष्य में आयल का उतना अधिक उपयोग रहेगा नही और ये हम अपनी आँखों के सामने होते हुए देख रहे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here