बाबा रामदेव से नाराज हुए मोदी सरकार, चिट्ठी लिखकर मंगवायी माफी

0
494

बाबा रामदेव मोदी सरकार के बहुत ही बड़े समर्थक माने जाते है और ये बात हम लोग भी बहुत ही अच्छे से जानते है. हर बात पर उनकी और मोदी सरकार की अच्छी खासी बनती भी है लेकिन सही मायनों में कई बार कुछ एक ऐसी गलतियाँ भी हो ही जाती है जिसके कारण से आपस में रिश्तो में खटास आ ही जाती है और ऐसा ही कुछ अभी हाल ही में देखने में आया है जिसके कारण से बाबा रामदेव को सामने से आकर के माफ़ी तक मांगनी पड़ी है, चलिए इस बारे में थोड़ी सी जानकारी कर लेते है.

बाबा रामदेव ने दिया था एलोपेथी के खिलाफ बयान, नाराज हो गया स्वास्थ्य मंत्रालय
अभी हाल ही में बाबा रामदेव ने एक बयान दिया था जिसमे उन्होंने एलोपेथी के ऊपर कहा था कि इसका विज्ञान बकवास है. भारत में अप्रूव की गयी दवाएं ठीक से इलाज नही कर पायी है और इसके कारण से लाखो लोगो की जान भी गयी है. इस पर कड़ी आपति जताते हुए स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने सरकार की तरफ से एक पत्र लिखा है और उसमे वो कहते है कि आपका बयान करोना के खिलाफ लड़ रहे फ्रंटलाइन वर्करो का अनादर करता है और उनके मनोबल को तोड़ता है. एलोपेथी दवाओं ने लाखो लोगो की जान बचाई है.

इसके बाद में डॉक्टर हर्षवर्धन ने उनके बयान को बहुत ही अधिक दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि करोना का टीका भी इसी एलोपेथी की देन है जो इस लड़ाई में हमारे लिए बहुत ही अधिक कारगर और मददगार साबित हुआ है. इस तरह का पत्र मिलने के बाद में बाबा रामदेव ने अपने ट्विटर हेंडल पर पूरे मामले पर खेद व्यक्त करते हुए इस पर विराम देने की बात कही है.

इस मामले के बाद में कही न कही ये मैटर काफी अधिक बढ़ गया है और एलोपेथी और आयुर्वेद को लेकर के सोशल मीडिया पर एक तरह से बहस सी छिड़ गयी है और लोग अपनी अपनी सोच को सामने रख भी रहे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here