खुदका इतना बड़ा नुकसान करवाया लेकिन फिर भी भारत को धोखा नही दिया, ऑस्ट्रलिया है सच्चा दोस्त

0
1786

आपने एक कहावत तो सुनी होगी कि दोस्ती वही पर होती है जहाँ पर फायदा होता है, मगर हाल ही में ऑस्ट्रेलिया ने इस बात को बिलकुल ही गलत साबित कर दिया है और दुनिया एक तरह से कहे तो इस देश की कायल हो चुकी है. अब ऐसा क्या हुआ है और क्यों हर तरफ ऑस्ट्रलिया की तारीफ़ की जा रही है. ये मामला काफी अधिक लंबा है और हम अभी इसी के सम्बन्ध में बात भी करने जा रहे है. चलिए फिर कुछ जानकारी कर लेते है, जो आपको ये मुद्दा समझने में थोड़ा सा मदद भी कर ही देगी.

चीन से साइन कर रखा था ऑस्ट्रेलिया के राज्य ने अरबो डॉलर के फायदे का अग्रीमेंट, अब वहाँ की सरकार ने कर दिया खारिच
ऑस्ट्रेलिया का एक राज्य है जिसका नाम है विक्टोरिया. इस राज्य ने कुछ समय पहले की ही बात है जब एक अग्रीमेंट या फिर कहे एमओयू चीन की सरकार के साथ में साइन किया था जिसके तहत वो बेल्ड एंड रोड प्रोजेक्ट का हिस्सा बन गये थे. इससे यहाँ पर कई करोडो अरबो डॉलर का फायदा होने वाला था. मगर जब वहां की मुख्य यानी केंद्र सरकार को ये बात पता चली तो उन्होंने बाकायदा कानूनी रूप से इस अग्रीमेंट को समाप्त कर दिया है और एक तरह से कहे तो अरबो डॉलर का अपना घाटा करवाया है.

भारत जैसे दोस्त देशो की खातिर लिया है फैसला
आपको पता ही होगा कि ऑस्ट्रेलिया अभी क्वाड देशो में शामिल है जिसमे भारत, अमेरिका और जापान आते है. ये सारे देश मिलकर के चीन को आर्थिक और सामरिक रूप से काउंटर कर रहे है, फिर ऑस्ट्रेलिया और भारत ने हाल ही में कई मिलिट्री और आर्थिक अग्रीमेंट भी शामिल किये है जिससे ऑस्ट्रेलिया के हित क्वाड और भारत से अधिक जुड़ चुके है. ऐसे में अगर वो चीन के साथ ऐसे प्रोजेक्ट में जुड़ जाता तो एक तरह से ये दोस्तों के साथ धोखे जैसा होता.

मगर ऑस्ट्रेलिया ने सारा पैसा और सब कुछ ठुकरा कर के अपनी दोस्ती को पहले रखा है. यही नही इसके बाद में चीन ने ऑस्ट्रेलिया को परिणाम भुगतने की इशारों में धमकी भी दी है लेकिन ऑस्ट्रेलिया का कहना है कि वो जो भी करेगा वो अपने हिसाब से ही करेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here