प्रधानमंत्री मोदी को लिखा डॉक्टर मनमोहन सिंह ने पत्र, दिया ये सुझाव

0
1019

आपको मालूम हो तो अभी इन दिनों में देश भर में स्थिति काफी हद तक काबू से बहार है और चीजे हाथ में आ नही रही है. हम लोग इस चीज को बहुत ही अच्छे तरीके से भांप चुके है समझ चुके है और ऐसे वक्त में हर कोई काफी अधिक चिंतित नजर आता है. खैर अब जो भी है ऐसे वक्त में लोग थोड़े चिंतित तो है और हर कोई बहुत ही ज्यादा सोच में पड़ा हुआ है कि क्या करे? ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास में पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने एक पत्र भेजा है और उस पत्र में उन्होंने कुछ एक सुझाव दिए है.

अब मानना न मानना मोदी जी के ऊपर है लेकिन डॉक्टर मनमोहन सिंह ने अपनी तरफ से कुछ एक सुझाव दे दिए है जिसकी मदद से चीजो को कण्ट्रोल किया जा सकता है और कही न कही वो अगर ये बाते कह रहे है तो फिर अपने अनुभव के आधार पर ही कह रहे है.

  1. डॉक्टर मनमोहन सिंह ने पहला सुझाव तो दिया है कि देश में आगे 6 महीने के भीतर कितने लोगो को टीका लगाया जायेगा इसका रोड मैप अच्छे से तैयार कर लिया जाए और लोगो के सामने पारदर्शिता के साथ में रखा जाए, ताकि वो अच्छे से बातो को समझ सके.
  2. अगले सुझाव में वो कहते है कि ऐसे टीके जो भी विदेश के किसी  सम्मानित एजेंसी द्वारा जैसे अमेरिकी या यूरोपियन एजेंसी आदि द्वारा अप्रूव कर दिए गये है उनको भारत में भी जल्दी बिना ट्रायल के अप्रूव कर दिया जाये ताकि टीकाकरण में और अधिक तेजी आये.
  3. आगे डॉक्टर साहब कहते है कि अब सरकार को टीको के वितरण का विकेंद्रीकरण कर देना चाहिए, न कि केंद्र को अपने ऊपर ही सब कण्ट्रोल रखना चाहिए. राज्यों को छूट दे दी जाये कि वो अपने हिसाब से टीके लगा सके.
  4. अगले सुझाव में अभी के लिए वो टीके का एक तरह से जो उत्पादन का पेटेंट अधिकार किसी कम्पनी के पास होता है उसे समाप्त करने और सभी को उसका उत्पादन करने के लिए कह सकते है जिससे और अधिक तेजी से ये काम हो सके.

ये कुछ एक सुझाव है जो दिए यगे है, अब इन पर सरकार कितना सोचती है ये तो आने वाला वक्त ही बता पायेगा बाकी जो भी है देख ही लिया जायेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here