प्रधानमंत्री मोदी ने बुलायी अचानक से हाई लेवल मीटिंग, चेहरे पर नजर आयी टेंशन

0
2638

अभी हाल ही में पीएम मोदी चुनावों में लगे हुए थे. बंगाल और असम पर उनका काफी अधिक फोकस रहा लेकिन अभी इसी बीच उनको अपने काम में वापिस लौटना पड़ा है क्योंकि देश में पिछले एक हफ्ते में स्थिति बिगड़ी है और हालात नाजुक मोड़ पर पहुँचते हुए नजर आ रहे है, तो ऐसे में चुनाव जीतना हारना गौण हो जाता है और देश के लिए सोचना और कार्य करना आज बहुत ही अधिक जरूरी जाहिर तौर पर हो जाता है. अभी एक बड़ी मीटिंग इसी सम्बन्ध में आयोजित हुई है.

देश में प्रतिदिन केस 90 हजार से अधिक पहुंचे, स्थिति की समीक्षा और फैसले के लिए पीएम मोदी ने बुलाई मीटिंग
पिछले कुछ महीनो में करोना के केस बिलकुल ही गिर गये थे और न के बराबर आ रहे थे लेकिन पिछले एक से दो हफ्तों में चीजे बिगड़ी है और हालात काफी अधिक खराब हुए है. ऐसे में देश में हर रोज 90 हजार से अधिक केस आ रहे है और हालात खराब हो चुके है, कोई भी बच नही पा रहा है और ऐसे में अभी तो लॉकडाउन भी नही है तो हालत तो खराब जाहिर तौर पर होनी ही है.

अब पीएम मोदी की इस मीटिंग में कई सीनियर मिनिस्टर, ब्यूरोक्रेट, प्रधान सचिव, स्वास्थ्य सचिव और सलाहकार आदि मौजूद रहे. उन्होंने पीएम को जानकारी दी और बताया कि अभी देश में क्या कुछ हो रहा है और उनसे सलाह मशवरा चल रहा है कि ये जो केस बढ़ चुके है इनको दुबारा से रोकने के लिये क्या कुछ किया जा सकता है? लॉकडाउन होगा या नही इस पर भी जल्द ही कुछ न कुछ बात बाहर आ सकती है पर इस पर एक्सपर्ट क्या कहते है ये भी हमें जानना चाहिए.

सिद्धांत अग्निहोत्री का एनालिसिस, पाबंदियां बढ़ सकती है लेकिन लॉकडाउन की संभावना कम
अभी हाल ही में जाने माने एजुकेशन प्रोफेशनल सिद्धांत अग्निहोत्री ने इसी मुद्दे पर अपना एनालिसिस भी प्रस्तुत किया है जिसमे वो कहते हुए नजर आते है कि केस बढ़ रहे है लेकिन  भारत की अर्थव्यवस्था अभी एक और लॉकडाउन झेलने की स्थिति में नही है. विकसित देश इसे झेल  लेंगे लेकिन भारत में ये हो नही होना मुश्किल है, इसलिए मेरा मानना है कि सरकार लॉकडाउन नही करेगी.

हालांकि मोदी अगले पल क्या फैसला ले ले ये तो वो ही जानते है. अभी फ़िलहाल सबकी नजरे प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ है जहाँ से कोई एक अच्छी खबर या फिर स्टेटमेंट आने की उम्मीद है जिससे देश के लोग थोड़ी राहत महसूस कर सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here