शाह ने कतरे महबूबा के पर, लिया ये बड़ा फैसला

0
1067

महबूबा मुफ़्ती कभी कश्मीर पर राज करने वाली नेता हुआ करती थी. उन्होंने अपने जीवन के कई सारे साल बतौर मुख्यमंत्री बिताए है और कश्मीर की जनता का उनको बहुत ही बड़ी और भारी मात्रा में सपोर्ट मिलता था, मगर लग रहा है कि ऐसा होने वाला नही है. पहले तो उनसे कई शासकीय शक्तियां छीन ली गयी, वो नजरबंद भी रही और अब जब वो बाहर है तब भी महबूबा मुफ़्ती के ऊपर कई ऐसे रोक और प्रतिबन्ध प्रत्यक्ष या फिर अप्रत्यक्ष रूप से नजर आते है जिसके चलते वो चाहकर भी कश्मीर में माहौल बिगाड़ नही पा रही है.

महबूबा मुफ़्ती के पासपोर्ट को मंजूरी नही, जहाँ हो वही रहो
महबूबा मुफ़्ती का पासपोर्ट अभी हाल ही में एक्सपायर हो गया है. इसके बाद में फिर से नया पासपोर्ट बनवाने के बाद में वेरिफिकेशन के लिए महबूबा ने जम्मू कश्मीर के पुलिस के पास में अर्जी दी थी लेकिन खबरों की माने तो राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए महबूबा मुफ़्ती के पासपोर्ट को अनुमति देने से जम्मू कश्मीर की पुलिस ने मना कर दिया, आपको बता दे अब जम्मू कश्मीर की पुलिस गृह मंत्रालय यानी डायरेक्ट अमित शाह के अंडर ही आती है.

जब ये हुआ तो फिर महबूबा मुफ़्ती काफी तिलमिला उठी क्योंकि अब वो अपनी मर्जी से कही भी बाहर जा नही पाएगी जैसे पहले चली जाती थी. उन्होंने केंद्र पर सवाल खड़े किये और तो और उमर अब्दुल्ला ने भी इस मामले पर बयान देते हुए महबूबा का सपोर्ट किया है. वही महबूबा का कहना है कि इतना सब किया लेकिन क्या इतने बड़े देश की संप्रभुता और राष्ट्रीय सुरक्षा का स्तर सिर्फ इतना ही है कि उसे एक पूर्व मुख्यमंत्री से खतरा होने लग गया है?

खैर अभी ये तिलमिलाहट क्या इस वजह से है कि वो अब विदेश जाकर के बहार उनके जो दोस्त है उनके साथ मिलकर के फिर से कश्मीर में अपना राज कैसे लाया जाये उस पर प्लानिंग नही कर पाएगी? सवाल तो कई सारे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here