बीजेपी ने बनायी उत्तर प्रदेश के लिये बड़ी रणनीति, हो सकता है मायावती और अखिलेश का पूरा सफाया

0
1325

भारतीय जनता पार्टी अभी इन दिनों में बहुत ही ज्यादा तेज फ़ोम में है और वो कोशिश तो यही ही कर रही है कि किसी न किसी तरह से जीत हासिल हर राज्य में की जाए. बंगाल की कोशिशे तो चल ही रही है और अब यूपी में भी अगले वर्ष चुनाव होने को है जिसको लेकर के भारतीय जनता पार्टी ने अपनी तरफ से कमर कस रखी है, इस सम्बन्ध में बीजेपी के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने जो नीति सामने रखी है जो बाकी लोगो की हवा काफी अधिक टाइट कर रही है.

भाजपा इस बार जीतना चाहती है बीजेपी में सारी सीट्स, करेगी बसपा और सपा को क्लीन स्वीप
पिछली  बार की बात करे तो गत उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में भाजपा ने बहुत ही अच्छा और शानदार प्रदर्शन किया था जहाँ पर उन्होंने 403 में से कुल 312 सीट्स जीती थी. अब कुल 84 सीटे ऐसी थी जिस पर उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. एक वरिष्ठ पदाधिकारी के अनुसार अब बीजेपी अपना सारा का सारा दम इन बची हुई सीट्स पर लगा रही है. यहाँ पर भारी फंड लगने वाले है, काफी बड़ी कार्यकर्ताओं की फ़ौज भी लगेगी और केम्पेन भी शुरू होगा.

पदाधिकारी ने अपने लोगो से कहा कि अगर हम 403 में से पूरी 312 सीट्स जीत सकते है तो फिर ये बची हुई 84 क्यों नही जीत सकते? भाजपा का लक्ष्य इस बार सिर्फ सरकार बनाना नही है बल्कि वो चाह रहे है कि बिलकुल ही क्लीन स्वीप करते हुए यूपी में जीत हासिल करे और विपक्ष में बैठने के लायक भी सपा और बसपा को न छोड़ा जाए और फिर जैसी हवा और जैसा प्रतिनिधित्व बीजेपी को यूपी में योगी जी के रूप में मिला है उसके बाद में ऐसा होते हुए नजर आ भी सकता है.

क्या है बसपा और सपा का काउंटर प्लान
अगर हम बात करे बसपा और समाजवादी पार्टी के काउंटर प्लान की तो अभी उनके पास ऐसा कुछ भी नही है. वो खुद भी समझ ही नही पा रहे है कि किस तरह से इस स्थिति को हेंडल किया जाये. कही न कही चीजे उनके कण्ट्रोल से बाहर चलती चली जा रही है और जब वो गठबंधन करके बीजेपी को नही हरा पाए तो फिर अब अकेले अकेले तो क्या ही कर लेंगे?

ऐसे में बीजेपी का पलड़ा काफी भारी नजर आ रहा है और अगर इन दोनों पार्टियों के लिए अपनी जमानत जब्त होने से बचाने की नौबत भी आ जाए तो ये कोई आश्चर्य वाली बात नही होने वाली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here