शराब पियो और पैसे लेकर करो आन्दोलन, ऑडियो वायरल होने से खुल रही प्रदर्शन की पोल

0
2869

दिल्ली भाजपा की प्रवक्ता नीतू डबास ने पिछले दिनों ट्विटर पर एक ऑडियो साझा किया जिसे कि गाजीपुर बॉर्डर पर धरना प्रदर्शन कर रहे एक किसान और उसके मित्र के बीच हुई वार्तालाप बताया जा रहा है। इस ऑडियो में तथाकथित किसान को यह बोलते सुना जा सकता है कि बॉर्डर पर तो पार्टी का माहौल है और धरने पर बैठने के रोजाना अच्छे खासे पैसे भी मिल रहे हैं।

इस ऑडियो के सामने आने के बाद किसान आंदोलन पर प्रश्न चिह्न लगने लगे हैं। किसान नेताओं ने इसे सरकार का किसानों की छवि खराब करने का गंदा षड्यंत्र करार दिया है, तो वहीं भाजपा नेताओं ने इसके जरिए आंदोलनकारियों की विश्वसनीयता पर प्रश्न चिह्न उठाने शुरु कर दिए हैं।

ऑडियो में किसान बॉर्डर पर की गई व्यवस्था को लेकर संतुष्ट मालूम पड़ रहा है। उसका कहना है कि वह तो वहाँ बस घूमने और पैसा कमाने के उद्देश्य से गया है। उसके अनुसार हर आंदोलनकारी को धरने पर बैठने के लिए प्रतिदिन दो से तीन हजार रुपये दिहाड़ी के रुप में दी जाती है और रात को शराब भी मुफ्त पिलाई जाती है।

किसान को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि सरकार अपनी जगह सही है पर किसान नेता सरकार की सुनना नहीं चाहते। बातचीत के दौरान वह बताता है कि उसके गाँव से विरोध प्रदर्शन के लिए करीब 20 ट्रैक्टर आए हैं। दो मिनट की इस वायरल ऑडियो में किसान बताता है कि फरीदाबाद की ही तरह गाजीपुर बॉर्डर पर भी बदमाशी होने की संभावना बनी हुई है।

बता दें कि गणतंत्र दिवस पर कुछ आंदोलनकारियों ने ट्रैक्टर रैली से ठीक पहले लाल किले पर तिरंगे का अपमान कर धार्मिक पताका फहरा दी थी और उसके उपरांत दिल्ली पुलिसकर्मियों से भी बदमाशी को अंजाम दिया। इस घटना ने लोगो को काफी परेशान किया है और सवाल भी खड़े किये है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here